Deprecated: Function mysql_db_query() is deprecated in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 5

Deprecated: mysql_db_query() [function.mysql-db-query]: This function is deprecated; use mysql_query() instead in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 5

Deprecated: Function mysql_db_query() is deprecated in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 10

Deprecated: mysql_db_query() [function.mysql-db-query]: This function is deprecated; use mysql_query() instead in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 10

Deprecated: Function mysql_db_query() is deprecated in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 19

Deprecated: mysql_db_query() [function.mysql-db-query]: This function is deprecated; use mysql_query() instead in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 19

Deprecated: Function mysql_db_query() is deprecated in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 39

Deprecated: mysql_db_query() [function.mysql-db-query]: This function is deprecated; use mysql_query() instead in /home/gnn38198/public_html/includes/header.php on line 39

Deprecated: Function mysql_db_query() is deprecated in /home/gnn38198/public_html/includes/categorylist.php on line 8

Deprecated: mysql_db_query() [function.mysql-db-query]: This function is deprecated; use mysql_query() instead in /home/gnn38198/public_html/includes/categorylist.php on line 8

Deprecated: Function mysql_db_query() is deprecated in /home/gnn38198/public_html/news_detail.php on line 22

Deprecated: mysql_db_query() [function.mysql-db-query]: This function is deprecated; use mysql_query() instead in /home/gnn38198/public_html/news_detail.php on line 22

Deprecated: Function mysql_db_query() is deprecated in /home/gnn38198/public_html/news_detail.php on line 28

Deprecated: mysql_db_query() [function.mysql-db-query]: This function is deprecated; use mysql_query() instead in /home/gnn38198/public_html/news_detail.php on line 28

सायना ने बैडमिंटन छोड़ने का मन बना लिया था - गोपीच

GNN News, Aug 8th, 2012

पिछले साल लगातार हार के बाद भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने इस खेल को छोड़ने का मन बना लिया था। इसका खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि राष्ट्रीय बैडमिंटन टीम के कोच पुलेला गोपीचंद ने किया।

गोपीचंद ने संवाददाताओं को बताया कि डेनमार्क में टिने बॉन से मुकाबला हारने के बाद सायना मेरे पास आईं। वह रो रही थीं और उनकी आंखों में सूजन था। वह आईं और उन्होंने कहा 'भैया' यह मेरे साथ नहीं होना चाहिए। हमें कुछ करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यदि यह हार लगातार जारी रही तो मैं नहीं खेलूंगी।

गोपीचंद ने कहा कि यह सुनकर वह दंग रह गए थे। पूर्व ऑल इंग्लैंड चैम्पियन गोपीचंद ने कहा कि मैंने उनसे वादा किया कि हम ओलम्पिक में पदक जीतेंगे। उसी दिन मैंने फोन पर अपने पिता, माता और पत्नी से कहा कि मैं सायना को दिया हुआ वादा पूरा करना चाहता हूं।

गोपीचंद ने कहा कि उन्होंने और सायना ने कई महीनों तक सबकुछ त्याग कर केवल खेल पर ध्यान केंद्रित किया। इस दौरान उन्होंने कोई फिल्म नहीं देखी, देर रात तक टेलीविजन नहीं देखी। इसके आलावा वह अकादमी में सुबह साढ़े चार बजे उपलब्ध रहते थे।

सायना के ओलम्पिक में पदक जीतने पर गोपीचंद ने सायना का शुक्रिया अदा किया। बकौल गोपीचंद, मैं वास्तव में भाग्यशाली हूं, यद्यपि मैं जब खेलता था उस समय मैं पदक नहीं जीत सका। मैंने अब अपने पूरे जीवन का पदक जीत लिया है। मेरे जीवन का जो सपना था वह पूरा हो गया है।

उल्लेखनीय है कि सायना ने लंदन ओलम्पिक की बैडमिंटन प्रतियोगिता के महिला एकल स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। सायना ओलम्पिक में बैडमिंटन में पदक जीतने वाली देश की पहली खिलाड़ी हैं।